भिखारी ठाकुर जयंती समारोह में उठी भोजपुरिया प्रदेश बनाने की मांग

युगल किशोर दुबे
सीवान (विहार) भोजपुरी विकास मंडल द्वारा भोजपुरी भाषा के सेक्सपीयर कहे जाने वाले भिखारी ठाकुर की जयंती का आयोजन माध्यमिक शिक्षक संघ निराला नगर सीवान के सभागार में युगल किशोर दूवे की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ।
लोक गायक भिखारी ठाकुर के द्वारा समाज के संवेदनशील समस्याओं को अपने नाटक तथा काव्य ग्रंथों में उद्धृत कर जनमानस की पीड़ा को दर्शाने का सराहनीय कार्य किया है जिसकी चर्चा वक्ताओ किया।
समारोह को संबोधित कर भोजपुरिया विद्वानों ने भोजपुरी भाषा के विकास में स्वर्गीय भिखारी ठाकुर के योगदान योगदान की सराहना की।
सिवान के लब्ध प्रतिष्ठित पत्रकार डॉ मधु ने सारण के तत्कालीन सांसद स्वर्गीय नारायण बाबू द्वारा हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाए जाने की संसद में की गई मांग का उल्लेख कर कहा कि आज स्वर्गीय नारायण बाबू जैसा व्यक्ति की आवश्यकता है जो भोजपुरी भाषा को महिमामंडित करने के लिए संविधान की आठवीं सूची में शामिल कराने के लिए संसद में मांग करें इसके लिए हम सभी लोगों को एक मंच पर आकर भोजपुरी भाषा के उत्थान के लिए संघर्ष करना होगा।
डॉ मधु ने भोजपुरी भाषा के विकास को ध्यान में रखकर सिवान से रेडियो सनेही द्वारा भोजपुरी में कार्यक्रम प्रसारित करने का ऐलान किया जिसे समारोह में भाग ले रहे सभी लोगों ने डॉ मधु की जोरदार शब्दों में स्वागत किया तथा उनके द्वारा भोजपुरी भाषा को आगे बढ़ाने की मुहिम की प्रशंसा की गई।
समारोह को संबोधित करते हुए उपेंद्र नाथ यादव प्रधान सचिव बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ सिवान द्वारा भिखारी ठाकुर के विदेशिया गबडघिचोर आदि नाटकों का उल्लेख कर अपनी भोजपुरी भाषा की रचना को प्रस्तुत कर भोजपुरी भाषा को आम जनमानस की भाषा करार दिया।
श्री यादव ने भोजपुरी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल कराने का आवाहन कर जनगणना में मातृभाषा भोजपुरी को दर्ज कराने की आवश्यकता जताते हुए कहा कि इससे भोजपुरी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल कराने में बल मिलेगा।
समारोह का सफल संचालन डॉक्टर जाहिद शिवानी द्वारा किया गया डॉ शिवानी ने अपने संबोधन में कहा कि भोजपुरी भाषा को सबसे अधिक खतरा भोजपुरी भाषियों से है उन्होंने कहा कि भोजपुरी भाषा के नाम पर तमाम संगठनअलग-अलग रूप से कार्यक्रम का संचालन कर रहे हैं उन्हें भोजपुरी भाषा को महिमामंडित करने के लिए एक मंच पर आना होगा एक मंच पर आए बिना भोजपुरी भाषा का विकास नहीं हो सकता है।
समारोह को डीएवी के पूर्व प्राचार्य बरजदेव सिंह यादव अधिवक्ता रविंद्र सिंह प्रोफेसर इंद्रजीत प्रसाद यादव अखिलेश्वर दीक्षित बामदेव वर्मा आरती श्रीवास्तव साहिब सिंह अली इमाम जयप्रकाश मुन्ना कुमार मिश्र अमन वर्मा शशि भूषण यादव प्रोफेसर इंद्रजीत चौधरी शत्रुघन कुमार कुशवाहा रमेश कुमार उपाध्याय एवं गोपालगंज से आए सुरेश चंद्र पांडे त्यागी एवं बसावन गुप्ता ने संबोधित किया।

About admin

Check Also

रुकुंदीपुर के मुखिया पति की गोली मारकर हत्या, विधायक ने कहा : बिहार में व्याप्त है अराजकता

लोक संवाददाता, सिवान, 7 नवंबर। जिले में आपराधिक वारदात थमने का नाम नहीं ले रहे …

Gram Masala Subodh kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *