मजबूत राष्ट्र के लिए अंत्योदय ही हमारा लक्ष्य : रेणु देवी

सिवान, 18 दिसंबर। भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय प्रशिक्षण शिविर द्वारा सिवान के बैकुंठ बीएड कॉलेज में चल रहे तीन दिवसीय जिला प्रशिक्षण शिविर के दूसरे दिन शनिवार को बिहार की उपमुख्यमंत्री रेणु देवी ने कार्यकर्ताओं को मजबूत राष्ट्र निर्माण में भागीदार बनने का आह्वान करते हुए पंडित दीनदयाल उपाध्याय के सपने “अंत्योदय” को सफल बनाने का आह्वान किया है। पिछले सात वर्षों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासन में पूरे देश में अंत्योदय पहल पर संबोधन करते हुए रेणु देवी ने कहा कि देश की आजादी के बाद जन संघ के अध्यक्ष पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने भारत की मजबूती के लिए अंतिम पंक्ति में खड़े गरीब, गुरबा, वंचित, शोषित, पीड़ित वर्ग को सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक और सांस्कृतिक तौर पर मजबूत बनाने के लिए अंत्योदय का सपना देखा था। इसी सपने को साकार करने के लक्ष्य के साथ भारतीय जनता पार्टी कई दशकों से लगातार काम कर रही है।

मूल रूप से विगत सात सालों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शासन के दौरान समाज के हर तबके के विकास के लिए किए गए कार्यों का जिक्र करते हुए रेणु देवी ने कहा कि केंद्र की सरकार और उसके साथ कदमताल कर बिहार की सरकार ने “शोषण मुक्त और समता युक्त समाज” के निर्माण के लिए कृत संकल्पित होकर काम किया है। उन्होंने कहा कि मान सम्मान के लिए तरसती महिलाओं के लिए 2014 के बाद केंद्र की सरकार ने कई सशक्तिकरण योजनाएं शुरू की है। मूल रूप से कोरोना संकट के समय सरकारों के कार्यों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसे समय में नौकरी पेशा गंवा चुके लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए केंद्र सरकार ने 20 लाख करोड़ रुपये की धनराशि का आवंटन किया। इसके अलावा 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त में राशन तब तक दिया गया जब तक संकट टल नहीं गया।
—–
हमने साल भर में बनाया कोरोना वैक्सीन
– वर्तमान सरकार की इच्छा शक्ति को मजबूत बताते हुए रेणु देवी ने कहा कि हमारा देश पल्स पोलियो का टीका पाने के लिए 40 साल तक इंतजार करता रहा, जबकि कोरोना जैसे वैश्विक संकट के समय आज देश में केवल एक साल में अति प्रभावी वैक्सीन बना लिया है। यह दिनोंदिन मजबूत होते भारत की मिसाल है।
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का जिक्र करते हुए उपमुख्यमंत्री ने कहा कि पहले भारत की दुर्दशा ऐसी थी कि खुद राजीव गांधी ने इस बात को स्वीकार किया था कि केंद्र से एक रुपया गरीबों के पास भेजे जाते हैं तो उन्हें 20 पैसे मिलते हैं, लेकिन नरेन्द्र मोदी ने तकनीक का सहारा लेकर गरीबों के खाते में सीधे रुपये ट्रांसफर करने का जरिया अपनाया। इसकी वजह से आज सीधे तौर पर समाज का जरूरतमंद वर्ग लाभान्वित हो रहा है। बिचौलिया राज खत्म है।
—-
आधी आबादी के पास बैंक खाता, सक्षम हुए अन्नदाता भी
– उन्होंने कहा कि आज देश में 91.93 करोड़ लोगों के पास बैंक खाता है जिनमें से आधे से अधिक खाते महिलाओं के हैं। रेणु ने कहा कि हमारा देश गांवों का देश है और जब तक यहां किसानों को मजबूत नहीं बनाया जाएगा तब तक राष्ट्र की उन्नति और मजबूती संभव नहीं है। इसे समझते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसानों की आमदनी दो गुना बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास किए। “प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि” के तहत देशभर के किसानों के लिए हर चार महीने पर वित्तीय मदद भेजी जा रही है। इसके अलावा किसानों की फसल को उचित मूल्य दिलाने के लिए केंद्र सरकार की पहल पर भारत के इतिहास में पहली बार लागत से डेढ़ गुना समर्थन मूल्य का निर्णय लिया गया है।
उन्होंने हाल ही में निरस्त किए गए कृषि कानूनों का भी जिक्र किया और कहा कि किसानों की बेहतरी के लिए ही कानून बने थे लेकिन उसके खिलाफ दुष्प्रचार की वजह से वापस लेना पड़ा। उन्होंने कहा कि आज 1.80 लाख करोड़ किसानों को राज्य में क्रेडिट कार्ड मिल रहा है। इसके अलावा किसानों के फसलों को सुरक्षित तौर पर मंडियों तक पहुंचाने के लिए 350 रेलगाड़ियां चलाई गईं जिनमें एक लाख मैट्रिक टन फल और सब्जी की ढुलाई हुई।
—–


दुनिया की सबसे बड़ी आबादी चिकित्सा बीमा
– गरीब तबके की बेहतर चिकित्सा का जिक्र करते हुए रेणु ने कहा कि इस देश में गरीबों के लिए चिकित्सा सबसे बड़ी जरूरत है और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आयुष्मान भारत जैसी महत्वाकांक्षी योजना की शुरुआत की। इसके तहत प्रति परिवार पांच लाख रुपये का चिकित्सा बीमा किया जाता है। उन्होंने कहा कि इस महत्वकांक्षी योजना के तहत 40 फीसदी भारत की आबादी स्वास्थ्य बीमा के अंतर्गत पंजीकृत हुई है जो पूरी दुनिया में सबसे अधिक है। इसी तरह से अन्य योजनाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत, जल जीवन मिशन, अटल पेंशन योजना, उज्जवला योजना, घर घर बिजली पहुंचाने के लिए कई महत्वपूर्ण पहल किए गए जिसका लाभ सबसे अधिक ग्रामीण आबादी को मिला है।

मूल रूप से महिलाओं के सशक्तिकरण का जिक्र करते हुए रेणु ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल में देश और बिहार की महिलाएं सशक्त हुई हैं। उज्जवला योजना से लेकर आजीविका योजना तक में महिलाओं को कम ब्याज पर ऋण दिया गया है जिसकी वजह से बड़े पैमाने पर औद्योगीकरण को बढ़ावा मिला है।
—–

प्रशिक्षण शिविर में संबोधन करतीं उपमुख्यमंत्री रेणु

पिछड़े वर्ग के विकास के लिए कानून में संशोधन
– उन्होंने कहा कि दलित और महादलित समुदाय के विशेष तौर पर विकास और सशक्तिकरण के लिए प्रधानमंत्री ने संविधान में संशोधन कर राष्ट्रीय पिछड़ा आयोग को मजबूत बनाया। विशेष तौर पर प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत 70 फसदी महिलाओं को ऋण दिया गया है जो महिला सशक्तिकरण की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

रेणु देवी ने कहा कि अंत्योदय हमारी प्राथमिकता है और इसी की प्रतिबद्धता के साथ हमारी सरकार की योजनाएं भी बन रही हैं और हम कार्य भी कर रहे हैं।

प्रशिक्षण शिविर में उपस्थित नेताओं और कार्यकर्ताओं को राष्ट्र निर्माण में भागीदार बनने का आह्वान करते हुए रेणु ने कहा कि पंडित दीनदयाल के सशक्त समाज और सशक्त भारत के सपनों को साकार करने के लिए हर कार्यकर्ता को समाज के निचले तबके से लेकर पिछड़े, शोषित, दलित और वंचित समुदाय के विकास के लिए प्रतिबद्ध होकर काम करना होगा।
भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष संजय पांडे की अध्यक्षता में हो रहे इस कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री का स्वागत नगर परिषद सिवान की पूर्व अध्यक्ष अनुराधा गुप्ता ने किया। दरौंदा के विधायक कर्णजीत सिंह, सिवान के पूर्व विधायक व्यास देव प्रसाद, पूर्व विधायक रामायण मांझी, बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के संयोजक रमेंद्र राय, जिला महामंत्री प्रदीप कुमार रोज, राजेश श्रीवास्तव और हरेंद्र सिंह कुशवाहा, जितेश सिंह, दीपू सिंह चंदेल, युवा  मोर्चा के जिला अध्यक्ष चद्रविजय प्रकाश यादव और जिला प्रभारी रणजीत सिंह ने समग्र तौर पर कार्यक्रम को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हैं।

About नवीन सिंह परमार

Check Also

डाक्टर सुधीर कुमार की याद में शोक सभा

सिवान, 22 जुलाई। बुधवार को सीवान जिला नागरिक विकास परिषद के निराला नगर स्थिति कार्यलय …

Gram Masala Subodh kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published.