ममता के मंत्री सुब्रत और फिरहाद पर मतदाताओं को प्रभावित करने का आरोप, आयोग पहुंची भाजपा

ममता के मंत्री सुब्रत और फिरहाद  पर मतदाताओं को प्रभावित करने का आरोप, आयोग पहुंची भाजपा

 

कोलकाता, 30 सितंबर (हि.स.)। ममता बनर्जी के कैबिनेट में वरिष्ठ मंत्री सुब्रत मुखर्जी और मुख्य अल्पसंख्यक चेहरा फिरहाद हकीम पर चुनाव वाले दिन भी प्रचार नियमों का उल्लंघन करते हुए मतदाताओं को प्रभावित करने का आरोप लगा है। दावा है कि मंत्री सुब्रत मुखर्जी ने अपने टि्वटर अकाउंट के जरिए ममता बनर्जी की तस्वीर लगाकर उनके पक्ष में वोट देने की अपील लोगों से की।

इधर हकीम पर आरोप है कि मतदान केंद्र के आसपास घूम घूम कर लोगों को ममता के पक्ष में मतदान करने के लिए प्रेरित किया है। गुरुवार को सुबह 7:00 बजे से वोटिंग शुरू हुई थी और इसलिए इन दोनों ही मंत्रियों के इस कथित बर्ताव की वजह से प्रचार के नियमों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए भाजपा ने चुनाव आयोग के पास शिकायत दर्ज कराई है जिस पर रिपोर्ट भी तलब की गई है।

इधर भाजपा के इन आरोपों पर तृणमूल कांग्रेस ने पलटवार किया है। सुब्रत मुखर्जी ने शेक्सपियर सरणी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराकर आरोप लगाया है कि उनका ट्विटर एकाउंट हैक किया गया था। उन्हें ट्वीट करने नहीं आता है। दूसरी और हकीम ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी हार का बहाना ढूंढ रही है।

 

भवानीपुर सीट पर तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो बनर्जी का मुकाबला भारतीय जनता पार्टी की प्रियंका टिबरेवाल और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी  के श्रीजीव विश्वास से है।

निर्वाचन क्षेत्र की मतदाता के रूप में बनर्जी ने इलाके के मित्रा संस्थान में अपना मत डाला थॣ।

टिबरेवाल ने आरोप लगाया कि तृणमूल ने वार्ड संख्या 72 में मतदान केंद्र पर मतदान प्रक्रिया जबरन रोकी और राज्य के मंत्री फिरहाद हाकिम और सुब्रत मुखर्जी निर्वाचन क्षेत्र में मतदाताओं को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे थे।

भाजपा ने फिरहाद हाकिम और मुखर्जी के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत भी की है।

हालांकि, हाकिम ने उन्होंने सवाल किया, ‘‘क्या सड़क किनारे स्टॉल पर चाय पीने से मतदाता प्रभावित होते हैं ? भाजपा जानती है कि वह उपचुनाव हार जाएगी और अब बहाने बना रही है।’’

 

तृणमूल कांग्रेस ने भी चुनाव आयोग के पास एक शिकायत भी दर्ज कराई, जिसमें टिबरेवाल पर 20 कारों के काफिले के साथ घूमने और मतदाताओं को डराने-धमकाने का आरोप लगाया गया। हालांकि टिबरेवाल ने इन आरोपों से इनकार किया है।

भाजपा ने बाद में आरोप लगाया कि उसके ‘पोलिंग एजेंटों’ को कई मतदान केन्द्रों के अंदर प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा। हालांकि, हाकिम ने कहा कि ऐसे दावे राजनीति से प्रेरित हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘ अगर उनके पास ‘पोलिंग एजेंट’ बनाने के लिए लोग नहीं थे, तो वे हमसे कहते। हम उन्हें एजेंट दिए होते।’’

About नवीन सिंह परमार

Check Also

मालदा की चाउमिन फैक्ट्री में लगी आग, लाखों का नुकसान

मालदा की चाउमिन फैक्ट्री में लगी आग, लाखों का नुक कोलकाता, 09 अक्टूबर (हि.स.)। पश्चिम …

Gram Masala Subodh kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published.