चुनाव प्रचार के आखिरी दिन भवानीपुर में जमकर बवाल, दिलीप घोष पर हमला

चुनाव प्रचार के आखिरी दिन भवानीपुर में जमकर बवाल, दिलीप घोष पर हमला 

 

कोलकाता, 27 सितंबर (हि.स.)।  पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता की सबसे हॉट सीट भवानीपुर में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन सोमवार को जमकर बवाल हुआ है। भारतीय जनता पार्टी की बंगाल‌ इकाई के पूर्व अध्यक्ष दिलीप घोष पर हमले किए गए हैं जबकि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को भी मारा पीटा गया है। इसे लेकर भाजपा ने दावा किया है कि तृणमूल कांग्रेस और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी डरे हुए हैं इसलिए हिंसा का सहारा ले रहे हैं।

 एक वायरल वीडियो में दिख रहा है कि दोनों दलों के कार्यकर्ता आपस में उलझे हुए हैं। इस दौरान सुरक्षागार्ड को स्थिति संभालने के लिए पिस्तौल तक निकालनी पड़ी।

भवानीपुर में 30 सितंबर को मतदान होना है। यहां से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार के तौर पर ममता बनर्जी खड़ी हैं जबकि उनके खिलाफ भारतीय जनता पार्टी ने प्रियंका टिबरेवाल को उम्मीदवार बनाया है।

भाजपा का आरोप है कि उनके नेता और कार्यकर्ता भवानीपुर में प्रचार कर रहे थे। इसी दौरान तृणमूल कार्यकर्ताओं ने उनके साथ धक्कामुक्की की। यहां तक कि भाजपा सांसद के साथ भी दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया है।

पार्टी की आईटी सेल के इंचार्ज अमित मालवीय ने कहा कि भवानीपुर में भाजपा की व्यापक पहुंच ने तृणमूल को बेचैन कर दिया है। नेताओं को प्रचार करने से रोकने की कोशिश की जा रही है। लेकिन वे कितने लोगों को रोक पाएंगे? भाजपा के नेता क्षेत्र के कोने-कोने में फैले हुए हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि जनता बड़ी संख्या में भाजपा को समर्थन के लिए तैयार है। 

 

 सांसद दिलीप घोष ने कहा कि लड़ाई तगड़ी है। तृणमूल डरी हुई है, इसलिए वह हाथापाई कर रही है। उन्होंने कहा कि हमारे सांसद अर्जुन सिंह प्रचार कर रहे थे। तृणमूल के कुछ लोग उनके पीछे लग गए। गो बैक के नारे लगाए। उनके साथ धक्कामुक्की की और मोहल्ले से बाहर निकाल दिया। 

 

दिलीप घोष ने कहा कि तृणमूल के लोग भाजपा का जमानत जब्त होना बता रहे थे। आज ममता बनर्जी का पूरा मंत्रिमंडल भवानीपुर में लगा है। मंत्री सड़क पर डेरा जमाए हैं। उन्होंने कहा कि हम लड़ने वाले लोग हैं। हम डोर टू डोर लोगों तक पहुंच रहे हैं। अत्याचार, हिंसा और तानाशाह के खिलाफ बीजेपी वोट मांग रही है।

उन्होंने बंगाल की इमेज आतंकवाद की बना दी है। यह छवि हो गई है कि यहां कटमनी, सिंडीकेट चलता है। भ्रष्टाचर चरम पर है। लोग यहां एक बार आने के बाद फिर से आने पर डरते हैं।

इस बीच धक्कामुक्की का वीडियो पोस्ट करते हुए सांसद अर्जुन सिंह ने कहा कि अगर ममता बनर्जी और अभिषेक बनर्जी को भवानीपुर उपचुनाव एक लाख के अंतर से जीतने का इतना भरोसा है तो फिर क्षेत्र में इस तरह की गुंडागर्दी क्यों हो रही है? बंगाल बीजेपी नेताओं का घेराव किया जा रहा है। क्यों? क्या उन्हें भवानीपुर में भी नंदीग्राम दोहराने का डर है?

About नवीन सिंह परमार

Check Also

मालदा की चाउमिन फैक्ट्री में लगी आग, लाखों का नुकसान

मालदा की चाउमिन फैक्ट्री में लगी आग, लाखों का नुक कोलकाता, 09 अक्टूबर (हि.स.)। पश्चिम …

Gram Masala Subodh kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published.