ममता ने लिखा पीएम मोदी को पत्र लगाया एक देश में एक ही विचार थोपने का आरोप

 

 

कोलकाता, 25 फरवरी: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखा है। इसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार गैरकानूनी तरीके से पूरे देश में अपनी विचारधारा थोपने की कोशिश कर रही है।

सीएम बनर्जी ने गुरुवार को पत्र लिख कर ‘एक देश, एक विचार’ लागू करने का आरोप लगाते हुए कहा कि  केंद्र सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने ऑनलाइन, वर्चुअल इंटरनेशनल कांफ्रेंस, सेमिनार, ट्रेनिंग आदि को लेकर कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए हैं। राज्य सरकार और राज्य सरकार सहायता प्राप्त विश्वविद्यालयों पर इस बाबत कई प्रतिबंध लगाए गए हैं।

पीएम को लिखे पत्र में सीएम ने कहा कि विश्वविद्यालयों को अधिकतम स्तर पर शैक्षणिक गतिविधियों के आयोजन की आजादी व स्वतंत्रता मिलनी चाहिए, लेकिन जिस तरह से प्रतिबंध लगाए गए हैं, उससे यह पता चलता है कि केंद्र सरकार शैक्षणिक गतिविधियों को केंद्रिकृत करना चाह रही हैं। क्या यह ‘एक देश और एक विचार’ लागू करने की तो कोशिश नहीं है ?

 

अपनी चिट्ठी में ममता ने शिक्षा मंत्रालय का निर्देश वापस लेने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि डिजिटल प्लेटफार्म सूदूर रहने वाले शिक्षकों और छात्रों के लिए वरदान शामिल हुआ है। इससे वे विद्वानों से संपर्क कर पा रहे हैं और उनसे लाभ उठा रहे हैं। इस तरह का निर्देश जारी करना भारत की संघीय व्यवस्था के खिलाफ है। उन्होंने पीएम से अनुरोध किया कि वह इस बाबत शिक्षा मंत्रालय को निर्देश जारी करें, ताकि वर्चुअल कॉन्फ्रेंस संबंधित सारे प्रतिबंध हटाए जाएं।

About Sulochna Singh

Check Also

बेतिया : प्रांतीय खेलकूद प्रतियोगिता के तैयारियों की समीक्षा बैठक संपन्न

बेतिया : विद्या भारती की उत्तर बिहार प्रांत इकाई लोक शिक्षा समिति, बिहार के तत्वावधान …

Gram Masala Subodh kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published.