राकेश की गिरफ्तारी पर सियासी सरगर्मी तेज, भाजपा ने लगाया बदले की कार्रवाई का आरोप

 

भारतीय जनता पार्टी के नेता राकेश सिंह की गिरफ्तारी को लेकर सियासी सरगर्मी तेज हो गई है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने ममता बनर्जी की सरकार पर बदले की कार्रवाई का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी की मजबूती से डरकर ममता सरकार ने विपक्षी नेताओं को शासन का भय दिखाना शुरू किया है लेकिन इसका कोई लाभ होने वाला नहीं है।
उल्लेखनीय है कि भाजपा युवा मोर्चा की नेत्री पामेला गोस्वामी को 10 लाख रुपये के कोकीन के साथ गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने दावा किया है कि पूछताछ में पामेला ने कथित तौर पर कबूल किया है कि राकेश सिंह उन्हें मादक पदार्थो की सप्लाई करते थे। इसके बाद ही धारा 160 के तहत गवाही के लिए सिंह को सोमवार पुलिस ने नोटिस दिया था और मंगलवार को शाम 4:00 बजे तक हाजिर होने का निर्देश दिया था। हालाकी राकेश सिंह ने जवाबी ईमेल भेजकर पुलिस से 26 फरवरी तक का समय मांगा था और समन के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका लगा दी थी। लेकिन मंगलवार को ही कोर्ट ने राकेश सिंह की याचिका को खारिज करते हुए कह दिया था कि पुलिस का समन कानून के मुताबिक जायज है। इसके बाद ही पुलिस ने राकेश सिंह के घर को घेर लिया था। हालांकि वह दूसरे रास्ते से फरार हो गए थे। इधर 4 घंटे तक तलाशी चलाने के बाद सीसीटीवी फुटेज की मदद से मंगलवार देर रात बर्दवान के गलसी से राकेश सिंह को गिरफ्तार किया गया। बुधवार सुबह 5:00 बजे के करीब उन्हें लाल बाजार स्थित कोलकाता पुलिस मुख्यालय लाया गया है। सिंह को न्यायालय में पेश करने की तैयारी की जा रही है। अपनी गिरफ्तारी के संबंध में राकेश सिंह ने कहा है कि तृणमूल उन्हें इस तरह से फंसा कर कभी भी सत्ता में वापस नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि तृणमूल को लगता है कि उनके घर को तोड़ने और बेटों को गिरफ्तार करने से तृणमूल फिर से सत्ता में आएगी तो यह होने वाला नहीं है।
उन्होंने राज्य प्रशासन की इस कार्रवाई को शर्मनाक करार दिया। इधर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने इस गिरफ्तारी की निंदा करते हुए कहा कि इस कार्रवाई से साफ है कि तृणमूल सरकार का विरोधी दलों के नेताओं के प्रति क्या व्यवहार है। इससे यह भी स्पष्ट है कि कौन बदले की कार्रवाई करने के लिए प्रतिबंध है।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को ही सीबीआई की टीम ने अभिषेक बनर्जी की पत्नी से कोयला तस्करी में संदिग्ध संलिप्तता को लेकर पूछताछ की थी जिसके बाद तृणमूल ने बदले की कार्रवाई का आरोप लगाया था। अब राकेश सिंह की गिरफ्तारी के बाद भाजपा तृणमूल पर हमलावर है।

About नवीन सिंह परमार

Check Also

बेतिया : प्रांतीय खेलकूद प्रतियोगिता के तैयारियों की समीक्षा बैठक संपन्न

बेतिया : विद्या भारती की उत्तर बिहार प्रांत इकाई लोक शिक्षा समिति, बिहार के तत्वावधान …

Gram Masala Subodh kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published.