म्‍यांमार में तख्‍तापलट से उड़ी चीन की नींद, सेना के सत्‍ता में आने से ड्रैगन को सता रहा बड़ा डर

पेइचिंग/यंगून, 02 फरवरी। चीन और भारत से सटे म्‍यांमार में सेना ने सोमवार को तख्‍तापलट कर दिया और सेना के कमांडर इन चीफ मिन आंग लाइंग के हाथों में देश की बागडोर आ गई है। जनरल मिन के सत्‍ता में आने से चीन की नींद उड़ती दिख रही है और यही वजह है कि उसने बहुत ठंडी प्रतिक्रिया दी है। म्‍यांमार की सेना के प्रमुख जनरल मिन का चीन के साथ करीबी संबंध है लेकिन वह पाकिस्‍तानी सेना प्रमुख की तरह से गुलामी नहीं करते हैं। जनरल मिन के चीन के दो बड़े दुश्‍मनों भारत और चीन से करीबी संबंध हैं। यही वजह है कि आंग सांग सू की को अपने पाले में लाने में लगे चीन की नींद उड़ गई है।

म्‍यांमार में तख्‍तापलट पर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा है, ‘म्यांमार में जो कुछ हुआ है, हमने उसका संज्ञान लिया है और हम हालात के बारे में सूचना जुटा रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘चीन, म्यांमार का मित्र और पड़ोसी देश है। हमें उम्मीद है कि म्यामां में सभी पक्ष संविधान और कानूनी ढांचे के तहत अपने मतभेदों को दूर करेंगे और राजनीतिक और सामाजिक स्थिरता बनाए रखनी चाहिए।’ चीन की इस प्रतिक्रिया को अब शक की नजरों से देखा जा रहा है।आंग सांग सू की एनएलडी सरकार को था चीन का पूरा समर्थन

चीन और म्‍यांमार मामलों के विशेषज्ञ यून सुन ने वाइस ऑफ अमेरिका से बातचीत में कहा कि चीन की प्रतिक्रिया अपेक्षित थी। हम जानते हैं कि चीन किसी देश के आंतरिक मामलों में हस्‍तक्षेप नहीं करता है, इसलिए सेना की निंदा की अपेक्षा उससे नहीं थी। चीन का यह रटा-रटाया रवैया काफी समय से है। उन्‍होंने कहा कि यह तख्‍तापलट निश्चित रूप से चीन के राष्‍ट्रीय हितों को नुकसान पहुंचाने जा रहा है। याद रखिए चीन के स्‍टेट काउंसलर वांग यी ने हाल ही में चीन की यात्रा की थी। इस यात्रा के दौरान उन्‍होंने आंग सांग सू की एनएलडी सरकार को पूरा समर्थन दिया था।यून सुन ने कहा कि वांग यी ने पूरी मजबूती के साथ प्रतिबद्धता जताई थी कि चीन एनएलडी सरकार के दूसरे कार्यकाल के दौरान आंग सांग सू की के साथ काम करना चाहता है। चीन ने म्‍यांमार में बड़े पैमाने निवेश किया है। उन्‍होंने कहा कि चीन-म्‍यांमार आर्थिक कॉरिडोर को ड्रैगन आगे बढ़ाना चाहता है लेकिन आने वाले महीने एक महीने पहले की स्थिति की तुलना में उसके लिए अनिश्चित होने जा रहे हैं। सुन ने कहा कि इस तख्‍तापलट से म्‍यांमार में चीनी निवेश और चीनी आर्थिक क्रियाकलाप के लिए खतरे की घंटी बज गई है।

About नवीन सिंह परमार

Check Also

मजबूत राष्ट्र के लिए अंत्योदय ही हमारा लक्ष्य : रेणु देवी

सिवान, 18 दिसंबर। भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय प्रशिक्षण शिविर द्वारा सिवान के बैकुंठ बीएड …

Gram Masala Subodh kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published.