दस्तावेज दिखाकर शुभेंदु ने किया दावा : बैंकॉक में अभिषेक के खाते में ट्रांसफर किए जा रहे हैं कोयला तस्करी के रुपये

लोक संवाददाता, कोलकाता, 02 फरवरी। ममता बनर्जी के कैबिनेट के पूर्व मंत्री और कद्दावर भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने मंगलवार को सीएम के भतीजे अभिषेक बनर्जी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। बारूईपुर में आयोजित जनसभा के दौरान अभिषेक की पत्नी रूजीरा बनर्जी के बैंकॉक में मौजूद खाते में रुपये ट्रांसफर किए जाने से संबंधित कुछ दस्तावेज दिखाते हुए उन्होंने दावा किया कि पश्चिम बंगाल के विभिन्न हिस्से में होने वाली कोयला तस्करी के सरगना अनूप मांझी उर्फ लाला के रुपये अभिषेक की पत्नी के खाते में बैंकॉक भेजे जा रहे हैं।

अभिषेक के संसदीय क्षेत्र डायमंड हार्बर में आयोजित जनसभा में उन्होंने एक बार फिर बनर्जी को तोलाबाज भतीजा करार दिया और कहा कि राज्य में जितने भी गैरकानूनी धंधे होते हैं उसकी वसूली भतीजे के पास पहुंचाई जाती है।
उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले इसी तरह से शुभेंदु अधिकारी ने सभा कर सारदा प्रमुख सुदीप्त सेन की चिट्ठी दिखाई थी और कहा था कि शुभेंदु ने शारदा प्रमुख से छह करोड़ रुपये लिए हैं और यह चिट्ठी उसका प्रमाण है। उसी तरह से मंगलवार को शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि कोयला तस्करी के सरगना लाला के सारे रुपये भतीजे की पत्नी के खाते में बैंकॉक ट्रांसफर किए जा रहे हैं। कागज दिखाते हुए उन्होंने कहा कि यह है प्रमाण।
उल्लेखनीय है कि 2019 के 15 मार्च को अभिषेक बनर्जी की पत्नी रूजीरा को कोलकाता एयरपोर्ट पर कस्टम अधिकारियों ने रोका था। उनके पास से कथित तौर पर दो किलो गैरकानूनी सोना बरामद किया गया था जो बैंकॉक से लेकर आ रही थीं। मूल रूप से पंजाब की रहने वाली अभिषेक की पत्नी के माता-पिता बैंकॉक में ही रहते हैं और वह भी वही पली-बढ़ी हैं। इसी को आधार बनाकर शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि लाला के सारे रुपये बैंकॉक रहे हैं।
इसके पहले एक जनसभा में अभिषेक बनर्जी ने दावा किया था कि दक्षिण 24 परगना की सभी 30 विधानसभा सीटों पर तृणमूल कांग्रेस जीतेगी। भाजपा को जीरो सीट मिलेगी। इसका जवाब देते हुए शुभेंदु ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सबसे बेहतर प्रदर्शन दक्षिण 24 परगना में ही करेगी।
बारूईपुर की जनसभा में जा रहे शुभेंदु अधिकारी को कुछ तृणमूल कार्यकर्ताओं ने काले झंडे दिखाए थे। इसे लेकर उन्होंने कहा कि यहां एक छोटा तोलाबाज है। उसका नाम है गौतम। जब मैं यहां आ रहा था तो उसी ने काले झंडे से मेरा रिसेप्शन किया। मैंने गाड़ी का शीशा नीचे किया और उसे नमस्कार कर आगे बढ़ाया हूं। इन लोगों का चेहरा पहचान कर रख रहा हूं। मई महीने के बाद तो इन्हें हमारे पास ही आना होगा।

About नवीन सिंह परमार

Check Also

डाक्टर सुधीर कुमार की याद में शोक सभा

सिवान, 22 जुलाई। बुधवार को सीवान जिला नागरिक विकास परिषद के निराला नगर स्थिति कार्यलय …

Gram Masala Subodh kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published.