बंगाल में प्रवेश कर चुके हैं नव जेएमबी के आतंकी, गणतंत्र दिवस पर बंगाल पुलिस अलर्ट

लोक डेस्क, कोलकाता, 25 जनवरी। गणतंत्र दिवस के दिन अथवा उसके बाद राजधानी कोलकाता समेत पश्चिम बंगाल के अन्य सीमाई क्षेत्रों में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए नव जेएमबी (जमात उल मुजाहिदीन बांग्लादेश) के छह आतंकी गैरकानूनी तरीके से घुसपैठ कर पश्चिम बंगाल में प्रवेश कर चुके हैं। केंद्र सरकार ने यह सूचना पश्चिम बंगाल सरकार को भेजी है जिसके बाद गणतंत्र दिवस से पहले मालदा और मुर्शिदाबाद जिले में पुलिस ने सुरक्षा बढ़ा दी है। किसी भी तरह की अप्रिय घटना से निपटने और आतंकियों की गतिविधियों को विफल करने के लिए पुलिस ने खुफिया एजेंसियों की मदद लेनी शुरू कर दी है। राज्य गृह विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दुनिया भर के लिए खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस से जुड़े आतंकी संगठन नव जेएमबी के आतंकियों की तलाश शुरू कर दी गई है। अलर्ट के बाद मालदा और मुर्शिदाबाद रेलवे स्टेशनों के आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। सीसीटीवी कैमरे की मदद ली जा रही है और संदिग्धों पर नजर भी रखी जा रही है। उक्त अधिकारी ने बताया कि केंद्र सरकार की खुफिया एजेंसियों ने सूचना दी है कि मुर्शिदाबाद के लालगोला सीमा से बांग्लादेश के आतंकी भारतीय सीमा में प्रवेश कर चुके हैं। उनका इरादा 72 वें गणतंत्र दिवस पर आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने का है। इस वजह से भारत बांग्लादेश सीमा से सटे सभी जिलों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है और स्थानीय खुफिया तंत्र का इस्तेमाल कर हरे क्षेत्र में नए आए लोगों के बारे में जानकारी एकत्रित की जा रही है।

आतंकियों के संभावित ठिकानों के बारे में पूछने पर उक्त अधिकारी ने कहा कि वे राज्य के अन्य जिलों की यात्रा कर सकते हैं या कोलकाता जैसे शहर में भी पहुंच सकते हैं। राज्य पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएस) के साथ-साथ कोलकाता पुलिस की एसटीएफ और अन्य दस्ते ने पूरे राज्य में तलाशी तेज कर दी है। केंद्र सरकार ने बंगाल प्रशासन को बताया है कि लालगोला में जल सीमा के जरिए इन आतंकियों ने प्रवेश किया है। गृह विभाग के उच्च अधिकारी ने बताया कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि ठंड की वजह से घने कोहरे का फायदा उठाकर आतंकी प्रवेश करने में सफल रहे हैं। यह भी पता चला है कि नव जेएमबी के शीर्ष नेतृत्व ने इन आतंकियों को पश्चिम बंगाल और आसपास के क्षेत्रों में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए भेजा है।
उल्लेखनीय है कि जून 2020 में कोलकाता पुलिस की एसटीएफ ने शहर की सियालदह और हावड़ा स्टेशन के पास से नव जेएमबी के चार आतंकियों को गिरफ्तार किया था। इनमें से तीन बांग्लादेशी थे और एक भारतीय था।

About नवीन सिंह परमार

Check Also

सीवान में मुखिया के पति और भांजे की हत्या, पुलिस छावनी में तब्दील हुआ इलाका

👉 मृतक मुखिया पति विश्वकर्मा भी अपराधिक चरित्र का व्यक्ति था 👉 जिले के अलग-अलग …

Gram Masala Subodh kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published.