तोड़फोड़ और हंगामा करने वाले पार्टी के नेताओं को भाजपा ने थमाया नोटिस

लोक डेस्क, कोलकाता, 24 जनवरी। पश्चिम बंगाल में तेजी से मजबूत होती जा रही भारतीय जनता पार्टी ने राज्य भर में तोड़फोड़ और प्रदर्शन करने वाले पार्टी के उन 14 कार्यकर्ताओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया है जिन्होंने अपने ही नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ मोर्चा खोला था। यह जानकारी प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने रविवार को दी है। उन्होंने स्पष्ट किया है कि पार्टी में अनुशासन सर्वोपरि है। नए कार्यकर्ता हों, या पुराने, यह बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा कि कोई अपनी गतिविधियों से पार्टी की संस्कृति पर कीचड़ उछाले। बर्दवान और आसनसोल कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन करने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ पार्टी ने सख्त कार्रवाई की है। घोष ने कहा कि पार्टी का आधार बढ़ाने के लिए दूसरी पार्टी के नेताओं को शामिल करना जरूरी है, लेकिन पुराने कार्यकर्ताओं को भी नजरदांज नहीं किया जाएगा.। बता दें कि कुछ दिन पहले केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो और केंद्रीय सह प्रभारी अरविंद मेनन

के सामने ही पार्टी कार्यालय में प्रदर्शन किए गए थे। आग लगा दी गई थी और तोड़फोड़ की गई थी।
दिलीप घोष ने कहा कि हर किसी को पार्टी के नियमों और कायदों का पालन करना है, चाहे वे पुराने हों या नये। उन्होंने कहा, ‘‘पश्चिम बंगाल में भाजपा एक बढ़ती हुई ताकत है। प्रत्येक बीतते दिन के साथ हमारा संगठन मजबूत हो रहा है, तृणमूल कांग्रेस सहित अन्य दलों के लोग हमसे जुड़ रहे हैं। यदि हम लोगों को अन्य संगठनों से नहीं लेते हैं, तो हम कैसे बढ़ेंगे?’’

घोष ने कहा, ‘‘चाहे कोई भी पार्टी में शामिल हो, मैं यह कहना चाहूंगा कि सभी को पार्टी के नियमों और कायदों का पालन करना होगा। कोई भी पार्टी के ऊपर नहीं है।’’
दिलीप घोष ने कहा, ‘‘कुछ नेताओं के खिलाफ शिकायतें हो सकती हैं, लेकिन सभी को यह समझना होगा कि हर कोई जो हमारे साथ जुड़ता है, उसे महत्वपूर्ण पद नहीं दिया जाएगा। लोकतंत्र में संख्या बल एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हमें (सत्ता में आने के लिए) संख्या प्राप्त करनी है।’’ गत दो वर्षों में शुभेंदु अधिकारी, 14 अन्य विधायकों और एक मौजूदा सांसद सहित कई वरिष्ठ नेता तृणमूल कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए हैं। साथ ही वाम मोर्चे के तीन विधायक और चार कांग्रेस विधायक भी भाजपा में शामिल हुए हैं।”
घोष ने कहा कि किसी को पार्टी में शामिल करना उनके गलत कामों को सही ठहराना नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘हम किसी को या किसी भी चीज को प्रमाणित या न्यायोचित नहीं ठहरा रहे हैं। यदि कोई दोषी साबित होता है, तो उसे नतीजे भुगतने होंगे। वह तृणमूल कांग्रेस है जो भ्रष्टाचार की संस्कृति में विश्वास करती है।” स्टिंग ऑपरेशन और चिटफंड मामले के दोषी नेताओं को भाजपा में शामिल होने पर ममता बनर्जी द्वारा लगाए गए आरोपों का जवाब उन्होंने इसी तरह से दिया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे समाज में, लोगों का एक वर्ग राजनीति में है और ये वर्ग जहां भी जाता है, उस पार्टी की ताकत बढ़ती है। अगर कुछ राजनेता हमारे साथ जुड़ने के इच्छुक हैं, तो हम उनका स्वागत करेंगे। दूसरी ओर, कानून अपना काम करेगा।’’
दिलीप घोष ने कहा कि पार्टी ने एक तंत्र बनाया है जो पार्टी में शामिल किये जाने वाले व्यक्तियों के बारे में जांच करेगा।

About नवीन सिंह परमार

Check Also

डाक्टर सुधीर कुमार की याद में शोक सभा

सिवान, 22 जुलाई। बुधवार को सीवान जिला नागरिक विकास परिषद के निराला नगर स्थिति कार्यलय …

Gram Masala Subodh kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published.